Home उत्तराखंड न्यूज़ हरिद्वार कुंभ में 50 हजार कोरोना टेस्ट करने पर सरकार ने खड़े...

हरिद्वार कुंभ में 50 हजार कोरोना टेस्ट करने पर सरकार ने खड़े किए हाथ, हाईकोर्ट में लगाई अर्जी


सरकार ने हाई कोर्ट में मांग की है कि 31 मार्च के उस आदेश में बदलाव किया जाए

Haridwar Kumbh Mela 2021: तीरथ सिंह रावत सरकार ने अपनी अर्जी में कहा है कि हरिद्वार में श्रद्धालुओं की भीड़ बाहर से आ रही है और RTPCR टेस्ट करना संभव नहीं है क्योंकि इसकी रिपोर्ट कुछ दिनों बाद आती है.

नैनीताल. हरिद्वार कुंभ में कोरोना टेस्ट को लेकर हाईकोर्ट के आदेश का पालन करने और रोजाना श्रद्धाओं के 50 हजार टेस्ट करने पर सरकार ने हाथ खड़े कर दिए हैं. सरकार ने हाई कोर्ट में प्रार्थना पत्र दाखिल कर मांग की है कि 31 मार्च के उस आदेश में बदलाव किया जाए जिसमें कुंभ क्षेत्र के 50 हजार कोरोना टेस्ट किए जाने हैं. सचिव स्वास्थ्य अमित नेगी की ओर से दिए इस प्रार्थना पत्र में कहा गया है कि सरकार केंद्र सरकार की एसओपी का पालन कर रही है और कोविड लक्षण वाले श्रद्धालुओं का टेस्ट कर रही है.

प्रार्थना पत्र में कहा है कि हरिद्वार में श्रद्धालुओं की भीड़ बाहर से आ रही है और RTPCR टेस्ट करना संभव नहीं है क्योंकि इसकी रिपोर्ट कुछ दिनों बाद आती है और मंदिर-घाटों के साथ स्थानीय लोगों के टेस्ट किए जा रहे हैं. सरकार ने अपने पत्र में कहा है कि मौनी अमावस्या को 11 हजार 15 हजार, फरवरी बसंत पंचमी को 20596, 26 फरवरी को 29663, 11 मार्च शिवरात्रि को 39 हजार टेस्ट किए हैं. सरकार की क्षमता 25 हजार टेस्ट की है. कोर्ट से मांग की है कि 50 हजार टेस्ट में छूट मिले.

हालांकि इस मामले की सुनवाई 15 अप्रैल को होनी थी लेकिन कोर्ट बंद होने के चलते अगले हफ्ते सुनवाई हो सकेगी. आपको बता दें कि 31 मार्च को हाईकोर्ट ने सरकार को आदेश दिया था कि कुंभ में आने वाले श्रद्धालुओं की कोरोना जांच की जाए. हालांकि सरकार ने जांच तो की लेकिन कोर्ट के आदेश का अनुपालन नहीं हो सका है.









Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

जयपुर का एक ऐसा वैक्सीनेशन सेंटर, जहां पर टोकन से लगता है कोरोना टीका, रजिस्ट्रेशन की जरूरत ही नहीं

राजधानी जयपुर में एक ऐसा वैक्सीनेशन सेंटर है, जहां आपकों किसी भी तरह का अपाइंटमेंट लेने की जरूरत नहीं है, यहां वैक्सीन लगवाने...

Recent Comments